Ce diaporama a bien été signalé.
Nous utilisons votre profil LinkedIn et vos données d’activité pour vous proposer des publicités personnalisées et pertinentes. Vous pouvez changer vos préférences de publicités à tout moment.

तम्बाकू

403 vues

Publié le

In this document , I had tell about the Tobacco , it's effect and how to save us from Tobacco.This description is written in HINDI. It's a 3 Page Document. As we all know that tobacco is very bad thing. So, don't take Tobacco It can kill you and as well as your happiness.

Publié dans : Santé & Médecine
  • Soyez le premier à commenter

तम्बाकू

  1. 1. तम्बाकू “तंबाकू का नशा, अनमोल ज ंदगी की दुददशा” तम्बाकू एक धीमा जहर है जो सेवन करने वाले व्यक्तत को धीरे धीरे करके मौत के मुँह मे धके लता रहता है l लोग जाने अनजाने मे तम्बाकू उत्पादों का सेवन करते रहते है, धीरे धीरे शौक लत मेँ पररवर्तित हो जाता है और तब नशा आनंद प्राक्तत के ललए नह ं बक्कक ना चाहते हए भी ककया जाता है एक शायर ने तया खूब कहा है – तम्बाकू उत्पादों का सेवन अनेक रूप में ककया जाता है, जैसे बीड़ी ,लसगरेट, गटखा, जदाि, खैनी, हतका ,चचलम आदद l लसगरेट, बीडी और हतके का हर कश एवं गटखे, जदे, खैनी की हर चटकी हर पल मौत की ओर ले जा रह होती हैl तम्बाकू उत्पादों के सेवन से नकसान -  तम्बाकू में मादकता या उतेजना देने वाला मख्य घटक र्नकोट न (Nicotine) है यह तत्व सबसे ज्यादा घातक भी है l  इसके अलावा तम्बाकू मे अन्य बहत से कैं सर उत्पन्न करने वाले तत्व पाये जाते है l  धम्रपान एवुँ तम्बाकू खाने से मुँह् ,गला, श्वासनल व फे फडोँ का कैं सर (Mouth, throat and lung cancer ) होता है l  ददल की बीमाररयाुँ (Heart Disease )  धमनी कादिन्यता,उच्च रततचाप (High Blood Pressure )  पेट के अकसर (Stomach Ulcer ),  अम्लपपत (Acidity),  अर्नद्रा (insomnia) आदद रोगों की सम्भावना तम्बाकू उत्पादों के सेवन से बढ़ जाती है l तम्बाकू की लत के कारण -
  2. 2. कभी दूसरों की देखा देखी, कभी बर संगत मे पडकर कभी लमत्रो के दबाब में, कई बार कम उम्र मेँ खद को बडा ददखाने की चाहत में तो कभी धएुँ के छ्लकले उडाने की ललक,कभी कफकमों मे अपने पप्रय अलभनेता को धूम्रपान करते हए देखकर तो कभी पाररवाररक माहौल का असर तम्बाकू उत्पादों की लत का कारण बनता है l अचधकतर लोग ककशोरावस्था या यवावस्था मेँ दोस्तोँ के साथ लसगरेट, गट्खा, जदाि, आदद का शौककया रूप मेँ सेवन करते है शौक कब आदत एवुँ आदत लत मे बदल जाती है पता ह नह ं चलता और जब तक पता चलता है तब तक शर र को बहत नतसान पहुँच चका होता है l धूम्रपान, जदाि, खैनी आदद नशा छोडने के उपाय - 1. नशा छोड्ने का मन से र्नश्चय करेँ l 2. यदद नशा एक बार मेँ झटके से छोड्ना मक्श्कल लगे तो धीरे धीरे मात्रा कम करते हए छोड़ें। 3. सभी लमत्रोँ,पररचचतों को बता दें कक आपने नशा छोड ददया है ताकक वे आपको नशा करने के ललये बाध्य ना करेँ l 4. डायर ललखेँ कक आप कब और ककतनी मात्रा मे नशा करते हैं तया कारण है जो आपको नशा करने के ललये प्रेररत होते हैं l 5. अपने पास लसगरेट, गटखा, तम्बाकू , एवुँ माचचस आदद रखना छोड देँ l 6. खान पान एवं लाइफ स्टाइल में सधार करें l नशा छोड़ने के आयवेददक तर के - 7. 50 ग्राम सौंफ एवुँ इतनी ह मात्रा मेँ अजवायन लेकर तवे पर भूने, थोडा नींबू का रस एवुँ हकका काला नमक डाल लेँ l एक डब्बी में रखकर अपनी जेब में रख लें l जब भी लसगरेट एवुँ तम्बाकू आदद की तलब लगे तो कछ दाने मुँह मेँ रख लेँ एवं चबाते रहे इससे तलब कम होगी,अजीणि ( indigestion),अरुचच (Anorexia),गैस (Gas,Acidity) में आराम लमलेगा l 8. गनगने पानी मे नींबू का रस एवुँ शहद डालकर पीना तलब को कम करता है तथा नशे के पवषातत तत्वों को शर र से बाहर र्नकालता है l
  3. 3. 9. एक पडडया मे सूखे आुँवले के टकडे, इलायची ,सौंफ, हरड के टकडे रखेँ ताकक जब तलब लगे तो कछ टकडे मुँह में रखें और चबाते रहें इनसे तलब ( Craving) तो कम होती ह साथ ह खट्ट डकार ,भूख ना लगना (Lack of appetite ),पेट फू लने में आराम लमलता है l नशा छोड़ते वक़्त तया परेशानी आ सकती है - लसगरेट ,बीडी,एवं अन्य तम्बाकू उत्पादोँ का नशा छोड्ने पर अनेक लक्षण उत्पन्न हो जाते है जो बहत परेशान करते है इन्हे पवड्रावल लक्षण ( Withdrawal Symptoms ) कहते है जैसे:  चचंता ( Stress,anxiety)  बेचैनी (Restlessness)  भूख ना लगना (Lack of appetite )  ह्रदय की धडकन बढना (Palpitation)  नींद ना आना (Lack of sleep)  ज्यादा पसीना आना (Excessive sweating)  नशे की तीव्र इच्छा होना ( Craving )  अवसाद ( Depression )  लसर ददि आदद l यदद लक्षण ज्यादा गम्भीर ना हों जो कक इस बात पर र्नभिर करते हैं कक व्यक्तत नशा ककतने समय से और ककतनी मात्रा मे कर रहा है तो ऐसी क्स्तचथ मे आयवेद की जड़ी बूदटयां एवं औषचधयां बहत फायदेमंद होती हैं, जैसे-असगंध ,ब्राह्मी, शंखपष्पी, जटामांसी ,आंवला ,हरड, त्रत्रफला,मलहिी ,सौंफ,इलायची,लवण भास्कर ,द्राक्षासव,अश्वगंधा अवलेह,अक्ननटंडी आदद बहत उपयोगी हैं क्जन्हे चचककत्सक की राय से सेवन ककया जा सकता है l 31 मई को तम्बाकू र्नषेध ददवस / World No Tobacco Day मनाया जाता है आइये इस अवसर पर हम संककप लें कक खद भी नशा नह करेंगे और अन्य लोगो को भी नशा ना करने के ललये प्रोत्सादहत करेंगे l तयोंकक- Addiction is Death !

×