सागर की गोद में

सागर की गोद में by Hari Shanker Goyal किताब के बारे में... आधुनिक युग मेंं जहां आदमी काम के बोझ से अपनी जिंदगी जी नहीं पाता और जहां प्यार मुहब्बत के लिए कोई जगह नहीं शारीरिक आवश्यकताओं की पूर्ति के लिये नित नया मर्द या लड़की मिल जाये और वीकेंड पर एक शानदार पार्टी हो जाये। समाज में बड़ा नाम, प्रतिष्ठा और पैसा हो तो लगता है कि उसने जहां जीत लिया है। अगर कोई सुंदर सी लड़की दिखाई दे जाये तो उसे पाने की लालसा में आदमी हैवान बन जाता है। ऐसी दशा में आदमी के संस्कार और उसका परिवेश उसके मूल्यों को बचाकर रखते हैं और उसे हैवान बनने से रोकते हैं। ये कहानी इसी परिदृश्य पर लिखी गई है। उम्मीद है कि यह कहानी आपको पसंद आयेगी। यदि आप इस पुस्तक के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक से इस पुस्तक को पढ़ें या नीचे दिए गए दूसरे लिंक से हमारी वेबसाइट पर जाएँ! https://hindi.shabd.in/sagar-ki-god-men-hari-shanker-goyal/book/10085483 https://shabd.in/

सागर की गोद में

Recommandé

प्रथा (एक नायिका) par
प्रथा (एक नायिका)प्रथा (एक नायिका)
प्रथा (एक नायिका)Shabddotin
3 vues1 diapositive
अनंत आकाश की ऊंची उड़ान par
अनंत आकाश की ऊंची उड़ानअनंत आकाश की ऊंची उड़ान
अनंत आकाश की ऊंची उड़ानShabddotin
4 vues1 diapositive
हॉरर स्टोरीज par
हॉरर स्टोरीज हॉरर स्टोरीज
हॉरर स्टोरीज Shabddotin
3 vues1 diapositive
श्रंगारिक कविताएं par
श्रंगारिक कविताएंश्रंगारिक कविताएं
श्रंगारिक कविताएंShabddotin
3 vues1 diapositive
सपनों की उड़ान par
सपनों की उड़ानसपनों की उड़ान
सपनों की उड़ानShabddotin
3 vues1 diapositive
प्रेरणा par
प्रेरणाप्रेरणा
प्रेरणाShabddotin
3 vues1 diapositive

Contenu connexe

Plus de Shabddotin

बुशरा par
बुशराबुशरा
बुशराShabddotin
5 vues1 diapositive
खिलता पुष्प par
खिलता पुष्पखिलता पुष्प
खिलता पुष्पShabddotin
3 vues1 diapositive
तुम आओगे न par
तुम आओगे नतुम आओगे न
तुम आओगे नShabddotin
3 vues1 diapositive
सोरठी बृजभार par
सोरठी बृजभारसोरठी बृजभार
सोरठी बृजभारShabddotin
3 vues1 diapositive
मेरी अधूरी ख्वाहिश.. par
मेरी अधूरी ख्वाहिश..मेरी अधूरी ख्वाहिश..
मेरी अधूरी ख्वाहिश..Shabddotin
3 vues1 diapositive
ड्योढ़ी लाँघकर par
ड्योढ़ी लाँघकरड्योढ़ी लाँघकर
ड्योढ़ी लाँघकरShabddotin
3 vues1 diapositive

Plus de Shabddotin (20)

खिलता पुष्प par Shabddotin
खिलता पुष्पखिलता पुष्प
खिलता पुष्प
Shabddotin 3 vues
सोरठी बृजभार par Shabddotin
सोरठी बृजभारसोरठी बृजभार
सोरठी बृजभार
Shabddotin 3 vues
मेरी अधूरी ख्वाहिश.. par Shabddotin
मेरी अधूरी ख्वाहिश..मेरी अधूरी ख्वाहिश..
मेरी अधूरी ख्वाहिश..
Shabddotin 3 vues
ड्योढ़ी लाँघकर par Shabddotin
ड्योढ़ी लाँघकरड्योढ़ी लाँघकर
ड्योढ़ी लाँघकर
Shabddotin 3 vues
कवित्त कल्पना par Shabddotin
कवित्त कल्पनाकवित्त कल्पना
कवित्त कल्पना
Shabddotin 3 vues
आयुर्वेदिक औषधियां एवं उपचार par Shabddotin
आयुर्वेदिक औषधियां एवं उपचारआयुर्वेदिक औषधियां एवं उपचार
आयुर्वेदिक औषधियां एवं उपचार
Shabddotin 4 vues
अतीत के पन्ने par Shabddotin
अतीत के पन्नेअतीत के पन्ने
अतीत के पन्ने
Shabddotin 5 vues
कुछ हसीन ख्वाब par Shabddotin
कुछ हसीन ख्वाबकुछ हसीन ख्वाब
कुछ हसीन ख्वाब
Shabddotin 4 vues
स्वाद ही स्वाद par Shabddotin
स्वाद ही स्वादस्वाद ही स्वाद
स्वाद ही स्वाद
Shabddotin 4 vues
नूतन रचनायें par Shabddotin
नूतन रचनायेंनूतन रचनायें
नूतन रचनायें
Shabddotin 3 vues
हमारी संस्कृति एवं हम par Shabddotin
हमारी संस्कृति एवं हमहमारी संस्कृति एवं हम
हमारी संस्कृति एवं हम
Shabddotin 7 vues
लघुकथाओं की दुनिया par Shabddotin
लघुकथाओं की दुनियालघुकथाओं की दुनिया
लघुकथाओं की दुनिया
Shabddotin 3 vues
जीवन के रंग par Shabddotin
जीवन के रंगजीवन के रंग
जीवन के रंग
Shabddotin 8 vues
कही-अनकही कहानियाँ par Shabddotin
कही-अनकही कहानियाँकही-अनकही कहानियाँ
कही-अनकही कहानियाँ
Shabddotin 4 vues
शिवाजी महाराज par Shabddotin
शिवाजी महाराज शिवाजी महाराज
शिवाजी महाराज
Shabddotin 5 vues
ओ खुदा एक कविता par Shabddotin
ओ खुदा एक कविताओ खुदा एक कविता
ओ खुदा एक कविता
Shabddotin 3 vues
एक और बागवान par Shabddotin
एक और बागवानएक और बागवान
एक और बागवान
Shabddotin 3 vues