Ce diaporama a bien été signalé.
Nous utilisons votre profil LinkedIn et vos données d’activité pour vous proposer des publicités personnalisées et pertinentes. Vous pouvez changer vos préférences de publicités à tout moment.

Homemade Remedies for Dhatt Weakness - 068

272 vues

Publié le

धात दुर्बलता के लक्षण व उपचार: (http://spiritualworld.co.in)
इस रोग में धातु क्षीणता के कारण व्यक्ति जल्दी स्खलित हो जाता है| ऐसे रोगी का वीर्य पतला होता है| इसके शिश्न में बहुत कम उत्थान हो पाता है| धातु दुर्बलता से छुटकारा पाने के लिए कामोत्तेजक खाद्य पदार्थों-लहसुन, मांस, मदिरा, चाय, कॉफी, अधिक मिर्च-मसाले वाली वस्तुएं आदि का उपयोग तत्काल कम कर देना चाहिए|

कारण - अत्यधिक चिन्ता, शोक, मानसिक अशान्ति आदि कारणों से मनुष्य के शरीर में धातु या वीर्य क्षीण हो जाता है| इसके अलावा दिमागी कमजोरी, पौष्टिक भोजन, फल, दूध, मेवा आदि की कमी के फलस्वरूप व्यक्ति के शरीर के मांस, मेद, अस्थि, मज्जा आदि उचित मात्रा में नहीं बन पाते| अन्त में यही वीर्य की कमजोरी का कारण बन जाते हैं|
more on http://spiritualworld.co.in

Publié dans : Santé
  • Soyez le premier à commenter

  • Soyez le premier à aimer ceci

Homemade Remedies for Dhatt Weakness - 068

  1. 1. 1 of 5 Contd… इस रोग मे धातु क्षीणता के कारण व्यक्ति जक जल्दी स्खलि जलित हो जाता है| ऐसे रोगी का वीय र पतलिा होता है| इसके ि जशिश मे बहुत कम उत्थान हो पाता है| धातु दुबरलिता से छुटकारा पाने के ि जलिए कामोत्तेजक खलाद पदाथो-लिहसुन, मांस, मिदरा, चाय , कॉफी, अधि जधक ि जमचर-मसालिे वालिी वस्तुएं आदिद का उपय ोग तत्कालि कम कर देना चाि जहए| कारण - अधत्य ि जधक ि जचन्ता, शिोक, मानि जसक अधशिाि जन्त आदिद कारणो से मनुष्य के शिरीर मे धातु य ा वीय र क्षीण हो जाता है| इसके अधलिावा िदमागी कमजोरी, पौष्टि जष्टिक भोजन, फलि, दूध, मेवा आदिद की कमी के फलिस्वरूप व्यक्ति जक के शिरीर के मांस, मेद, अधि जस्थ, मज्जा आदिद उि जचत मात्रा मे नही बन पाते|
  2. 2. 2 of 5 Contd… अन्त मे यही वीयर की कमजोरी का कारण बन जाते है| पहचान - धातु या वीयर दुबरलता के कारण शारीिरक और मानिसिक कमजोरी िदखाई देने लगती है| शरीर मे तरह-तरह के रोग पैदा हो जाते है| इसिके सिाथ-सिाथ उदासिी, आलस्य, अंगो का कांपना, थकावट, अप्रसिन्नता, काम मे मन न लगना, पेट के रोग, स्नायु दुबरलता, श्वासि, खांसिी, िशश मे कमजोरी आिद लक्षण मालूम पड़ते है| नुस्खे - धातु पुष करने के िलए िगलोय का दो चम्मच रसि शहद के सिाथ प्रितिदन सिुबह-शाम चाटे|
  3. 3. 3 of 5 Contd… • दो चम्मच आंवले का रसि सिुबह िबना कुछ खाए-िपए शहद के सिाथ सिेवन करे| • 3 ग्राम तुलसिी के बीज मे िमश्री िमलाकर प्रितिदन दोपहर के भोजन के बाद खाएं| • 10 ग्राम सिफे द मूसिली के चूणर मे िमश्री िमलाकर खाएं| ऊपर सिे आधा िकलो गाय का दूध िपएं| • उरद की दाल का चूणर घी मे भूनकर उसिमे खांड़ िमलाकर खाएं| • िनयिमत रूप सिे रोज 100 ग्राम पपीते का रसि पीने सिे वीयर पुष होता है|
  4. 4. 4 of 5 Contd… • दो चम्मच गोमूत मे एक चम्मच िफलतफला का चूण र िफलमलाकर सेवन करे| • इलायची के दाने, बादाम की िफलगरी, जािफलवती तथा मक्खन - सबको शक्कर के साथ खाने से धातु पुष होती है| • प्रतिफलतिदन िफलनहार मुंह लहसुन की दो किफललयो का सेवन दूध के साथ करे|
  5. 5. For more Homemade Remedies Kindly visit: http://spiritualworld.co.in 5 of 5 End 5 गाम आंवले का चूण र सुबह और 5 गाम शाम को दूध के साथ ले|
  6. 6. For more Homemade Remedies Kindly visit: http://spiritualworld.co.in 5 of 5 End 5 गाम आंवले का चूणर सुबह और 5 गाम शाम को दूध के साथ ले|

×